पाकिस्तान की टीम ऑस्ट्रेलिया में पहुंच चुकी है. ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए पाकिस्तान की टीम में काफी फेरबदल हुआ है. पाकिस्तान की टीम को घरेलू T-20 सीरीज में श्रीलंका से 3-0 से हार का सामना करना पड़ा, जिसके बाद टीम के कप्तान सरफराज अहमद को कप्तानी पद से हटा दिया गया और बाबर आजम को T-20 टीम की कमान सौंप दी गई. लेकिन कप्तान बनते ही बाबर आजम को एक बड़ा झटका लगा है. उन्हें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की तरफ से यह झटका लगा है.


पीसीबी ने नहीं दिया यह अधिकार 

बाबर आजम पाकिस्तान की T-20 टीम के कप्तान बन गए हैं. लेकिन बोर्ड ने उन्हें टीम चुनने का अधिकार नहीं दिया है. बाबर आजम ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए पाकिस्तान की टीम में मोहम्मद हफीज और शोएब मलिक को जगह देना चाहते थे. लेकिन पीसीबी ने उनके सुझाव को बिल्कुल भी अहमियत नहीं दी. खबरों के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया रवाना होने से पहले टीम के मुख्य कोच मिस्बाह उल हक ने सरफराज से बाबर आजम से बातचीत कर यह निर्णय किया था कि वह मोहम्मद हफीज और शोएब मलिक को टीम में जगह देने के लिए तैयार है.


लेकिन पीसीबी के कुछ आला अधिकारियों ने दोनों की सलाह नहीं मानी, जिसको लेकर यह बहस हो रही है कि मुख्य कोच और टीम के कप्तान को आखिर क्या अधिकार दिए गए हैं. जब टीम चयन के बारे में बाबर आजम से पूछा गया तो उन्होंने कहा- मैंने अपनी राय दी थी. मुझे लगा था कि टीम को कुछ सीनियर खिलाड़ियों की जरूरत है. लेकिन चयन का अंतिम फैसला चयनकर्ताओं को ही लेना है.

पाकिस्तान का ऑस्ट्रेलिया दौरा


पाकिस्तान की टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर सबसे पहले तीन मैचों की T-20 सीरीज खेलेगी. पहला मैच 3 नवंबर को, दूसरा मैच 5 नवंबर को और तीसरा मैच 8 नवंबर को खेला जाएगा. इसके बाद दो टेस्ट मैच खेले जाएंगे. पहला टेस्ट मैच 21 नवंबर से और दूसरा टेस्ट मैच 29 नवंबर से शुरू होगा.