3 नवंबर की भारत और बांग्लादेश के बीच t20 सीरीज शुरू होने जा रही है। हालांकि टी20 सीरीज शुरू होने से पहले बांग्लादेश की टीम को आईसीसी ने तगड़ा झटका दिया है। बांग्लादेश के ऑलराउंडर खिलाड़ी शाकिब अल हसन पर आईसीसी ने 2 साल का प्रतिबंध लगा दिया है। अब वह अगले 2 साल तक कोई भी मैच नहीं खेल पाएंगे। ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि शाकिब अल हसन ने मैच फिक्स करने की ऑफर की बात आईसीसी को नहीं बताई थी।


आईपीएल 2018 में 26 अप्रैल को सनराइजर्स हैदराबाद और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मैच खेला जा गया था। आप लोगों को इस बारे में पता होगा कि शाकिब अल हसन आईपीएल में सनराइज हैदराबाद के लिए खेलते हैं। दीपक अग्रवाल नाम के एक व्यक्ति ने व्हाट्सएप के जरिए शाकिब अल हसन से टीम की कुछ पर्सनल जानकारी मांगी। हालांकि शाकिब अल हसन ने दीपक अग्रवाल को कुछ भी बताने से साफ साफ इनकार कर दिया। फिर भी आईसीसी ने शाकिब अल हसन को 2 साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया।


आईसीसी ने एक नियम तैयार किया है। इस नियम के मुताबिक यदि किसी खिलाड़ी को बुकी मैच फिक्स करने का ऑफर देता है तो उसकी जानकारी खिलाड़ी को आईसीसी को देनी होती है। लेकिन शाकिब अल हसन ने इस बात की जानकारी नहीं दी औरऔर इस गलती की सजा शाकिब अल हसन को दी गई है। 29 अक्टूबर 2020 के बाद ही शाकिब अल हसन मैच खेल पाएंगे।


शाकिब अल हसन अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाली T20 वर्ल्ड कप में नहीं खेल पाएंगे। उनका करियर खतरे में पड़ गया है। आईसीसी की एंटी करप्शन यूनिट को इस बात की भनक लग गई थी कि शाकिब अल हसन को मैच फिक्स करने का ऑफर मिला था। शाकिब अल हसन ने इस बारे में बताया कि मैंने यह बात गंभीरता पूर्वक नहीं ली। इसीलिए मैंने इस बात को आईसीसी को बताना उचित नहीं समझा।