बांग्लादेश के बेहतरीन ऑलराउंडर खिलाड़ी शाकिब अल हसन पर आईसीसी ने 2 साल का बैन लगा दिया है क्योंकि शाकिब अल हसन ने मैच फिक्सिंग के ऑफर मिलने की बात आईसीसी से छिपाई थी। आज से लगभग 2 साल पहले शाकिब अल हसन को एक बुकी ने मैच फिक्स करने का आरोप ऑफर दिया था। इस बात की जानकारी शाकिब अल हसन ने आईसीसी को नहीं दी। इसी कारण आईसीसी ने यह सख्त कदम उठाया और शाकिब अल हसन को 2 साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया।


आईपीएल 2018 में 26 अप्रैल को सनराइजर्स हैदराबाद और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच मैच खेला गया था। मैच शुरू होने से पहले शाकिब अल हसन को बुकी ने मैच फिक्स करने का ऑफर दिया था। आप लोगों को इस बारे में पता होगा कि शाकिब अल हसन आईपीएल में सनराइज हैदराबाद के लिए खेलते हैं।


आईसीसी ने हाल ही में मीडिया में यह जानकारी दी कि दीपक अग्रवाल नाम के एक व्यक्ति ने शाकिब अल हसन को 26 अप्रैल को सनराइजर्स हैदराबाद और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच होने वाले मैच को फिक्स करने का ऑफर दिया था। दीपक अग्रवाल ने व्हाट्सएप के माध्यम से शाकिब अल हसन से कांटेक्ट किया था। दीपक नेशाकिब अल हसन से टीम की अंदरूनी जानकारी मांगी थी। हालांकि शाकिब अल हसन ने आईसीसी को बताया कि मैंने दीपक को किसी भी तरह की जानकारी नहीं दी।


हालांकि आईसीसी के नियम के मुताबिक कोई भी खिलाड़ी यह बात नहीं छुपा सकता कि उसको मैच फिक्स करने का ऑफर मिला है। यदि खिलाड़ी ऐसा करता है तो उस पर प्रतिबंध लग सकता है। व्हाट्सएप पर दीपक ने शाकिब अल हसन से यह सवाल पूछा था क्या अमुक खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जाएगा। इसके अलावा दीपक अग्रवाल ने और भी कई बातें शाकिब अल हसन से पूछी थी जो शाकिब अल हसन ने नहीं बताईं।