दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन को देखकर भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच आर. श्रीधर काफी खुश है। भारतीय खिलाड़ियों ने दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध जो फिटनेस और ताकत दिखाई उससे आर. श्रीधर काफी प्रभावित हुए।


हाल ही में भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच आर. श्रीधर ने बड़ा बयान दिया। उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया कि भारतीय क्रिकेटरों की फिटनेस और माइंड सेट में काफी बड़ा बदलाव आया है। यह मैदान पर साफ दिखाई देता है। आर. श्रीधर ने न्यूज़ पेपर टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि रविंद्र जडेजा पिछले 10 सालों में सबसे बेस्ट भारतीय फील्डर रहे हैं। अगर वह टीम में होते हैं तो इससे टीम का मनोबल बहुत बढ़ जाता है। इस कारण विपक्षी टीम दबाव में आ जाती है। रविंद्र जडेजा के अलावा आर. श्रीधर ने विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा की भी जमकर प्रशंसा की।


जडेजा को लेकर भारतीय क्रिकेट टीम के फील्डिंग कोच ने कहा कि वह अपनी खतरनाक और शानदार फील्डिंग से विपक्षी टीमों को डरा देते हैं। अगर वे मैदान पर होते हैं तो खिलाड़ियों में अलग डर रहता है। पिछले एक दशक में रविंद्र जडेजा बेस्ट भारतीय फील्डर साबित हुए हैं।


आर. श्रीधर ने यह भी कहा कि सिर्फ रविंद्र जडेजा ही नहीं बल्कि विराट कोहली, मार्टिन गप्टिल, ग्लेन मैक्सवेल भी बहुत ही शानदार फील्डर है। इनको आप चाहे कहीं भी मैदान पर सेट कर सकते हैं। यह सभी कमाल के एथिलीट है। आर. श्रीधर ने आगे कहा कि युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह और इशांत शर्मा ने पिछले कुछ समय में अपनी फील्डिंग में बहुत सुधार किया है। सिर्फ इन्हीं खिलाड़ियों में नहीं बल्कि सभी भारतीय खिलाड़ियों की फील्डिंग में बहुत सुधार हुआ है। मेरे हिसाब से आईसीसी को फील्डरों के लिए भी रैंकिंग तैयार करनी चाहिए।