3 नवंबर से भारत और बांग्लादेश के बीच शुरू हो रही तीन टी-20 मैचों की सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है। भारतीय टीम में पहली बार शिवम दुबे को मौका मिला है। इसके अलावा लंबे समय बाद संजू सैमसन को शामिल किया गया है। युजवेंद्र चहल की भी भारतीय टीम में वापसी हुई है। विराट कोहली की जगह रोहित शर्मा को टीम का कप्तान नियुक्त किया गया है। हालांकि चयनकर्ताओं ने कुछ ऐसे खिलाड़ियों को जगह नहीं दी है जिन्होंने घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया। इन पांच खिलाड़ियों को जगह ना देकर चयनकर्ताओं ने बहुत बड़ी गलती की है।

1. यशस्वी जयसवाल 


17 साल के युवा बल्लेबाज यशस्वी जयसवाल ने विजय हजारे ट्रॉफी के वर्तमान सत्र में छह मैचों में 564 रन बनाए जिनमें उनके एक दोहरा शतक, दो शतक और एक नाबाद अर्धशतक शामिल है। वह T20 क्रिकेट में कमाल का प्रदर्शन कर सकते थे। उन्होंने 104.05 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की।

2. देवदत्त पडिक्कल


विजय हजारे ट्रॉफी 2019 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज कोई और नहीं बल्कि देवदत्त पडिक्कल थे जिन्होंने 10 मैचों में 598 रन बनाए। लेकिन फिर भी चयनकर्ताओं ने भारत की T20 टीम में देवदत्त पडिक्कल को मौका नहीं दिया।

3. शाहरुख खान 


तमिलनाडु के लिए खेलने वाले शाहरुख खान ने विजय हजारे ट्रॉफी 2019 में 11 मैचों में 217 रन बनाए। सेमीफाइनल मुकाबले में उन्होंने नाबाद 56 रनों की पारी खेली। शाहरुख खान को शानदार प्रदर्शन के बाद भी टीम में जगह नहीं मिली। चयनकर्ताओं का यह फैसला बहुत ही गलत रहा।

4. दिनेश कार्तिक 


विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को हमेशा ही नजरअंदाज किया गया है। वह काफी सालों से भारतीय टीम में जगह नहीं बना पाए हैं। उन्हें कुछ मैचों में मौका मिलता है तो कुछ मैचों से बाहर कर दिया जाता है। दिनेश कार्तिक T20 क्रिकेट के बहुत ही अच्छे बल्लेबाज है।

5. बाबा अपराजित 


विजय हजारे ट्रॉफी में बाबा अपराजित ने 11 मैच खेले। उन्होंने 532 रन बनाए। विजय हजारे ट्रॉफी में बाबा अपराजित ने पांच अर्धशतक एवं एक शतक लगाया।