बांग्लादेश के विरुद्ध इंदौर टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने नया टेस्ट रिकॉर्ड कायम कर दिया. इस मैच में जैसे ही मयंक अग्रवाल ने दोहरा शतक पूरा किया, भारतीय टीम के नाम एक विश्व रिकॉर्ड दर्ज हो गया. बता दें कि भारतीय बल्लेबाजों ने लगातार चौथे टेस्ट मैच में चौथा दोहरा शतक लगाया है. टेस्ट क्रिकेट इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब लगातार चार टेस्ट मैचों में एक ही टीम के बल्लेबाजों ने चार दोहरे शतक लगाए हैं.

सबसे पहले भारत की तरफ से विशाखापट्टनम टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध मयंक अग्रवाल ने दोहरा शतक लगाकर यह सिलसिला शुरू किया था. इसके बाद पुणे टेस्ट मैच में भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 254 रन की पारी खेलकर इस सिलसिले को आगे बढ़ाया. बता दें कि दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध सीरीज के तीसरे और अंतिम मुकाबले में रोहित शर्मा ने दोहरा शतक लगाया था.

अब बांग्लादेश के विरुद्ध मयंक अग्रवाल ने दोहरा शतक लगाकर विश्व रिकॉर्ड कायम कर दिया. मयंक अग्रवाल 243 रन बनाकर आउट हो गए. टेस्ट क्रिकेट के 100 सालों के इतिहास में भारतीय टीम ने वो कर दिखाया है, जो आज तक कोई भी टीम नहीं कर पाई है. भारतीय टीम लगातार चार टेस्ट मैचों में चार दोहरा शतक लगाने वाली टीम बन गई है.


लगातार चार टेस्ट मैचों में चार दोहरे शतक 

मयंक अग्रवाल- 215 रन, विशाखापत्तनम

विराट कोहली - 254 रन, पुणे

रोहित शर्मा - 212 रन, रांची

मयंक अग्रवाल - 243 रन, इंदौर

मयंक अग्रवाल का प्रदर्शन 


मयंक अग्रवाल भारत की तरफ से ओपनिंग करने आए. मयंक अग्रवाल ने 330 गेंदों में 243 रन की पारी खेली. इस पारी में उन्होंने 28 चौके और 8 छक्के भी लगाए. हालांकि वह 250 रन का आंकड़ा पार करने से चूक गए. बता दें कि मयंक अग्रवाल ने एक टेस्ट पारी में सबसे ज्यादा छक्के लगाने के मामले में नवजोत सिंह सिद्धू की बराबरी कर ली.