ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पाकिस्तान को तीसरे और अंतिम टी-20 मैच में 10 विकेट से करारी शिकस्त दी और 2-0 से सीरीज अपने नाम कर ली. इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया ने इतिहास रच दिया. ऑस्ट्रेलिया की टीम इस साल T-20 क्रिकेट में अजेय रही है और पहली बार ऐसा हुआ जब ऑस्ट्रेलिया की टीम एक कैलेंडर वर्ष में एक भी T-20 मैच ना हारी हो. तीसरे और अंतिम मुकाबले में पाकिस्तान की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया के सामने 107 रन का लक्ष्य खड़ा किया, जिसको ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 49 गेंद शेष रहते ही पूरा कर लिया.


ऑस्ट्रेलिया की तरफ से फिंच ने 52 और डेविड वॉर्नर ने नाबाद 48 रन की पारी खेली. 12 साल बाद पहली बार ऐसा हुआ जब ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 10 विकेट के अंतर से किसी T-20 मैच में जीत हासिल की. पिछली बार ऑस्ट्रेलिया ने यह कारनामा 2007 के टी-20 विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में किया था. उस समय ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका के विरुद्ध शानदार जीत दर्ज की थी.

आठ मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम रही अजेय 


ऑस्ट्रेलियाई टीम एरोन फिंच की कप्तानी में इस साल लगातार आठ T-20 मैच में अजेय रही है, जो 2010 के बाद से उनका सर्वश्रेष्ठ विजयी सफर रहा है. इस साल ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 8 मैच खेले, जिसमें से 7 मैचों में उसने जीत दर्ज की और एक मैच का कोई नतीजा नहीं निकला. इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया की टीम का 2019 का T-20 कैलेंडर पूरा हो गया.

ऑस्ट्रेलिया के सामने पाकिस्तान ने टेके घुटने 


पाकिस्तान की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट के नुकसान पर 106 रन ही बना पाई. पाकिस्तान की तरफ से इफ्तिखार अहमद ने सबसे ज्यादा 45 रन की पारी खेली. बाकी कोई भी बल्लेबाज ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के आगे टिक नहीं पाया. पाकिस्तानी बल्लेबाजों ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के आगे घुटने टेक दिए.