पाकिस्तान क्रिकेट और मैच फिक्सिंग का नाता काफी पुराना है. आए दिन पाकिस्तानी खिलाड़ियों के मैच फिक्सिंग से जुड़ी खबरें सुनने को मिलती रहती हैं. पाकिस्तानी खिलाड़ी किसी ना किसी वजह से विवाद में फंस जाते हैं जिसमें मैच फिक्सिंग विवाद भी शामिल है. पाकिस्तान सुपर लीग के साथ पाकिस्तान के कई खिलाड़ियों का नाम मैच फिक्सिंग में भी जुड़ा. लेकिन बोर्ड पिछले कुछ समय से मैच फिक्सिंग में शामिल दागी खिलाड़ियों को टीम में मौका देता रहा है.


पिछले कुछ समय पाकिस्तान क्रिकेट में मैच फिक्सिंग की घटनाएं देखने को मिलती रही है जिस वजह से पाकिस्तान क्रिकेट की काफी आलोचना भी हुई. लेकिन इस मामले पर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी मोहम्मद हफीज ने दो टूक कहा कि मैच फिक्सिंग करने वाले खिलाड़ियों को कभी भी पाकिस्तान क्रिकेट टीम में जगह नहीं देनी चाहिए.


हफीज का मानना है कि जो भी खिलाड़ी मौका मिलने पर पाकिस्तान के सम्मान को बनाने में असमर्थ रहा उसे फिर से पाकिस्तान के लिए खेलने का मौका कभी नहीं मिलना चाहिए, मोहम्मद हफीज ने कहा- मैं अपने माता-पिता को परवरिश के लिए धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे सही दिशा निर्देश दिए जिससे मुझे अपने जीवन में बहुत मदद मिली. जैसा कि आप सब जानते हैं कि जब आपको पेशेवर जीवन में सफलता मिलती है तो आपके आसपास कुछ चीजें ऐसी होती हैं जो सही नहीं होती हैं.


अगर आपका कोई अस्थाई दोस्त है जो आपको ऐसी चीजें प्रदान करता है तो आपके पास लाल बत्ती होनी चाहिए. आपको सावधान रहना चाहिए और खुद को कभी विवाद का विषय नहींं बनाना चाहिए और जो लोग गलत कर रहे हैं उनसे दूर ही रहना चाहिए. मोहम्मद हफीज ने कहा कि वह खिलाड़ी मेरे भाइयों की तरह है और मैं उनके लिए प्रार्थना करता हूं. लेकिन उन्होंने पाकिस्तान की अखंडता के लिए जो किया है, मैं उसके खिलाफ हूं.