भारतीय टीम ने राजकोट में खेले गए टी-20 में बांग्लादेश को 8 विकेट से करारी शिकस्त दी. इस जीत के हीरो रोहित शर्मा रहे जिन्होंने 85 रन की शानदार पारी खेली. भारतीय टीम की जीत में युजवेंद्र चहल का भी बड़ा हाथ रहा, जिन्होंने शानदार गेंदबाजी की. युजवेंद्र चहल ने 4 ओवर में 28 रन देकर दो विकेट झटक लिए. इस मैच में रोहित शर्मा को मैन ऑफ द मैच चुना गया. लेकिन युजवेंद्र चहल को गेम चेंजर अवार्ड मिला. यानी उन्होंने अपनी गेंदों से मैच का पासा पलट दिया.

चहल का शानदार प्रदर्शन 


युजवेंद्र चहल ने दो विकेट चटकाए. लेकिन पहले ही ओवर में कुछ ऐसा हुआ, जिसके बारे में शायद ही किसी ने सोचा होगा. युजवेंद्र चहल पावरप्ले के छठे ओवर में गेंदबाजी करने आए और उनकी तीसरी गेंद पर चकमा खा गए और क्रीज से बाहर निकल आए. पंत ने लिटनदास को स्टंप आउट कर दिया. लेकिन थर्ड अंपायर ने चेक किया. पंत ने गेंद को विकेट के आगे से पकड़ा, जिस वजह से गेंद को नो बॉल करार दिया गया और इसके बाद अगली दो गेंदों पर चौके पड़ गए. इस तरह चहल के पहले ओवर में 13 रन चले गए.


इतने खराब ओवर के बावजूद चहल ने हार नहीं मानी और अगले ओवर में उन्होंने फिर से लिटनदास को चकमा दे दिया और इस बार पंत ने उन्हें आउट कर दिया. 13वें ओवर में फिर से युजवेंद्र चहल गेंदबाजी करने आए और उन्होंने इस ओवर में दो विकेट हासिल किए. 18वां ओवर भी युज़वेंद्र चहल ने कराया जिसमें उन्होंने महज 4 रन ही दिए. मैच खत्म होने के बाद रोहित शर्मा ने युज़वेंद्र चहल की बहुत तारीफ की और उन्हें एक मैच विनर खिलाड़ी बताया. जबकि विराट कोहली काफी समय से युज़वेंद्र चहल को टी-20 टीम में जगह ही नहीं दे रहे थे.