आज के दौर में क्रिकेट के खेल में बल्लेबाजों का बोलबाला है। जितनी अहमियत बल्लेबाजों को दी जाती है, उतनी ही अहमियत गेंदबाजों को नहीं मिलती। बल्लेबाज हमेशा गेंदबाजों पर भारी पड़ते हैं। हालांकि हाल ही में एक ऐसा मैच खेला गया जिसमें गेंदबाज ने 14 रन देकर 9 विकेट चटकाए। इस गेंदबाज ने दुनिया को दिखा दिया कि गेंदबाज भी काफी अहमियत रखते हैं।

साउथ अफ्रीका के पोचश्ट्रूम में दाएं हाथ के तेज गेंदबाज एल्डरेड हॉकेन ने रफ्तार भरी गेंदबाजी से विरोधी टीम के बल्लेबाजों को परेशान करके रख दिया। उन्होंने नॉर्थवेस्ट की तरफ से खेलते हुए तीन दिवसीय मैच के पहले दिन ईस्टर्न्स के विरुद्ध 9 विकेट हासिल किए। हैरानी की बात यह रही कि उन्होंने महज 14 रन दिए और 9 बल्लेबाजों को आउट किया। एल्डरेड हॉकेन ने इस मुकाबले में 15 ओवर कराए। इस दौरान उन्होंने 7 मेडन ओवर डाले।

ईस्टर्न्स के शुरुआती 8 बल्लेबाज एल्डरेड हॉकेनका शिकार हुए। इसके बाद जोहानेस सीको ने एक विकेट हासिल किया। पारी का आखिरी विकेट ने लिया। इस कारण एल्डरेड हॉकेन का एक पारी में 10 विकेट लेने का सपना अधूरा रह गया। एल्डरेड हॉकेन की खतरनाक गेंदबाजी की बदौलत ईस्टर्न्स की टीम 95 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। टीम के 5 बल्लेबाज तो अपना खाता भी नहीं खोल सके।

पहले दिन का खेल समाप्त होने तक नॉर्थवेस्ट की टीम ने 4 विकेट के नुकसान पर 150 रन बना लिए थे। नॉर्थवेस्ट की टीम 55 रन आगे चल रही है। भले ही एल्डरेड हॉकेन ने 14 रन देकर 9 विकेट चटकाए। लेकिन फिर भी वह फर्स्ट क्लास क्रिकेट में बेहतरीन गेंदबाजी के मामले में चौथे नंबर पर है। अब तक दक्षिण अफ्रीका के तीन गेंदबाजों ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में एक पारी में 10 विकेट लेने का कारनामा किया है।