डोपिंग टेस्ट में फेल होने की वजह से बीसीसीआई ने पृथ्वी शॉ के ऊपर 8 महीने का बैन लगा दिया था, जो 15 नवंबर को समाप्त हो गया. पृथ्वी शॉ ने रविवार को मैदान पर वापसी की और अर्धशतक लगाकर धमाल मचा दिया. सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में मुंबई की तरफ से खेलते हुए पृथ्वी शॉ ने 39 गेंदों में 63 रन की विस्फोटक पारी खेली और इशारों ही इशारों में सबकी बोलती बंद कर दी.


बता दें कि पृथ्वी शॉ का डोप टेस्ट मार्च के महीने में हुआ था. उनके सैंपल में प्रतिबंधित पदार्थ टर्ब्यूटलाइन पाया गया, जो वाडा की प्रतिबंधित पदार्थों की सूची में शामिल है. इसी वजह से बीसीसीआई ने उन पर 8 महीने का बैन लगाया. इस वजह से पृथ्वी शॉ की आलोचना भी हुई थी. उन पर बैन लगने की खबर से सब लोग हैरान रह गए थे. लेकिन अब पृथ्वी शॉ मैदान पर वापसी कर चुके हैं.


अर्धशतक लगाते ही पृथ्वी शॉ ने विराट कोहली के अंदाज में आलोचकों का मुंह बंद कर दिया. पृथ्वी शॉ ने अर्धशतक का जश्न मनाते हुए इशारों ही इशारों में सबको बता दिया कि उनका बल्ला बोलता है. लेकिन इस वजह से पृथ्वी शॉ की सोशल मीडिया पर आलोचना की जा रही है.

पृथ्वी शॉ की लापरवाही से हुई किरकिरी 


पृथ्वी शॉ के यूरिन का सैंपल फरवरी में लिया गया था जिसमें प्रतिबंधित पदार्थ पाया गया. पृथ्वी शॉ ने कफ सिरप का सेवन किया था जिसमें यह पदार्थ पाया जाता है. पृथ्वी शॉ ने इस बात को स्वीकार कर लिया कि उन्होंने खांसी रोकने के लिए सिरप पिया था. इस वजह से उन्हें आलोचना झेलनी पड़ी थी, क्योंकि उन्होंने टीम के मेडिकल स्टाफ से सलाह लिए बिना ही दवाई का सेवन कर लिया.