भारत और बांग्लादेश के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला 14 नवंबर से इंदौर में खेला जाएगा. लेकिन प्रशंसकों को पहले नहीं बल्कि दूसरे टेस्ट मैच का बेसब्री से इंतजार है, क्योंकि पहली बार भारतीय टीम गुलाबी गेंद से क्रिकेट खेलने वाली है. दूसरा टेस्ट मैच 22 नवंबर से कोलकाता के ईडन गार्डंस पर खेला जाएगा. यह मैच डे-नाइट टेस्ट मैच होगा. भारतीय टीम के खिलाड़ी पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ की निगरानी में नेशनल क्रिकेट अकादमी में गुलाबी गेंद से खेलने की तैयारियों में जुटे हुए हैं और वह किसी भी तरह की कोई कमी नहीं छोड़ना चाहते हैं.


बता दें कि सभी भारतीय खिलाड़ी कोलकाता में होने वाले डे-नाइट मैच को बहुत गंभीरता से ले रहे हैं. इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि टीम की तरफ से मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन से रात में लाइट में प्रैक्टिस सेशन आयोजित करने की मांग की गई है.


मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव मिलिंद ने बताया कि राज्य क्रिकेट संघ गुलाबी गेंद से खेलने की तैयारियों में खिलाड़ियों की मदद कर बहुत खुश है. मिलिंद ने कहा- भारतीय टीम की तरफ से आग्रह मिला कि टीम डे-नाइट टेस्ट की तैयारियों को देखते हुए रात में लाइट में प्रैक्टिस सेशन में हिस्सा लेना चाहती है. इसीलिए हम उनके लिए इसकी व्यवस्था कर रहे हैं.


बता दें कि भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने पिंक टेस्ट को लेकर कहा- व्यक्तिगत रूप से मैं डे नाइट मैच को लेकर बहुत उत्साहित हूं. मुझे नहीं पता कि इसका नतीजा क्या होगा. लेकिन कुछ प्रैक्टिस सेशन के बाद इसका अंदाजा हो जाएगा. हमें पता चल जाएगा कि पिंक गेंद कैसी स्विंग करेगी और सेशन के दौरान कैसा प्रदर्शन करेगी. प्रशंसकों के लिहाज से यह मैच बहुत ही दिलचस्प होगा. मुझे लगता है कि बल्लेबाज जितना लेट खेलेंगे, उतना ही अच्छा होगा.