दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष पद से रजत शर्मा ने कुछ समय पहले ही इस्तीफा दे दिया था. अब डीडीसीए के नए अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होना है जिसके लिए डीडीसीए की तरफ से दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनावों के बाद का समय मांगा गया है. डीडीसीए ने स्पष्ट कर दिया है कि लोढ़ा समिति की सिफारिशों के मुताबिक, भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के लिए योग्य नहीं है.


डीडीसीए सचिव विनोद मेहरा ने बताया कि हम लोकपाल दीपक शर्मा से आग्रह करेंगे कि वह अध्यक्ष पद का चुनाव कराने के लिए अतिरिक्त समय दे दे. चुनाव जनवरी के अंत में होने हैं. लेकिन हम उनसे आग्रह करेंगे कि वह विधानसभा चुनाव के बाद चुनाव करवाने की अनुमति दें.


गौतम गंभीर की उम्मीदवारी को लेकर विनोद मेहरा ने कहा- दिल्ली क्रिकेट की सेवा के लिए उनका स्वागत है. लेकिन वो अध्यक्ष तब तक नहीं बन सकते हैं, जब तक वह अपने सांसद पद से इस्तीफा नहीं दे देंगे. पिछले महीने ही रजत शर्मा ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था. इस वजह से डीडीसीए को नए अध्यक्ष के लिए चुनाव कराने की जरूरत पड़ी है.


हाल ही में डीडीसीए की मीटिंग हुई थी जिसमें डीडीसीए के अधिकारी आपस में ही भिड़ गए. अधिकारियों ने एक दूसरे के साथ हाथापाई की. यह वीडियो वायरल हुई तो बीसीसीआई पर भी सवाल उठने लगे. गौतम गंभीर ने इसको लेकर कहा था कि डीडीसीए के उन अधिकारियों को दंडित करना चाहिए जिन्होंने डीडीसीए को बदनाम करने की कोशिश की. उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.