यशस्वी जायसवाल को भारतीय क्रिकेट का भविष्य माना जा रहा है. उन्होंने बहुत कम समय में ही अपनी अलग पहचान बना ली है. इस साल घरेलू क्रिकेट में उन्होंने एक के बाद एक कई शानदार पारियां खेली, जिससे लग रहा है कि उनका भविष्य बहुत सुनहरा है. आईपीएल नीलामी में यशस्वी जायसवाल को राजस्थान रॉयल्स ने 2.4 करोड़ रुपए में खरीद लिया है. यशस्वी जायसवाल अब भारतीय टीम का हिस्सा बनना चाहते हैं, इसके लिए वह लगातार कड़ी मेहनत कर रहे हैं.


यशस्वी जायसवाल के आदर्श सचिन तेंदुलकर है. यशस्वी जायसवाल ने इस साल विजय हजारे ट्रॉफी में दोहरा शतक लगाया था और खूब सुर्खियां बटोरी थी. उन्होंने 154 गेंदों में 203 रन बनाए थे. इस पारी में 17 चौके और 12 छक्के लगाए थे. यशस्वी जायसवाल ने हाल ही में बताया कि कैसे वह सचिन तेंदुलकर की बल्लेबाजी का वीडियो देखकर तैयारी करते थे.


उन्होंने कहा- मैं क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर को अपना आदर्श मानता हूं और उनसे कई बार मिल भी चुका हूं. उनकी उपस्थिति ही आपको प्रेरित करने के लिए काफी होती है. मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है. यशस्वी ने बताया कि एक बार जब मैं सचिन से मिला था तो मैंने उनसे पूछा कि सर बड़े मैचों के लिए मुझे खुद को कैसे तैयार करना चाहिए तो उन्होंने मुझे कहा कि तुम्हें वर्तमान में जीना चाहिए.


पिछले मैच में जो कुछ भी हुआ, उसे पीछे छोड़ दो. चाहे आपने शतक लगाया हो या फिर आप शून्य पर आउट हो गए हो. आपको उसे भूल जाना चाहिए. जितना तुम वर्तमान में जिओगे, तुम्हारा खेल भी उतना ही सुधरेगा. सचिन तेंदुलकर के यह शब्द यशस्वी जायसवाल के दिमाग में बस गए और उन्हें हमेशा इन शब्दों से प्रेरणा मिलती रहती है.