क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है. ऐसा इस वजह से कहा जाता है क्योंकि क्रिकेट के मैदान पर कभी भी कुछ भी हो सकता है. किसी को अंदाजा नहीं होता कि आगे क्या होने वाला है. मैच में कुछ ही गेंदों में पूरा पासा पलट जाता है. पहले मैच में शतक लगाने वाला खिलाडी बिना खाता खोले ही आउट हो सकता है. इसीलिए क्रिकेट का मैच अनिश्चितता का खेल कहा जाता है. बता दें कि हाल ही में ऐसा ही नजारा बांग्लादेश में देखने को मिला.


नार्थ बंगाल और टैलेंट हंट क्रिकेट अकादमी के बीच जबरदस्त मुकाबला देखा गया. इस मैच में बल्लेबाजों ने 48 छक्के और 70 चौके लगाए. जबकि मैच में कुल मिलाकर 818 रन बने. नार्थ बंगाल ने यह मैच 46 रनों से जीत लिया. पहले बल्लेबाजी करते हुए नार्थ बंगाल की टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में 4 विकेट के नुकसान पर 432 रन बनाए जिसके जवाब में टैलेंट हंट क्रिकेट अकादमी की टीम 7 विकेट के नुकसान पर 386 रन बना पाई.


नार्थ बंगाल की तरफ से बल्लेबाजों ने 27 छक्के लगाए, जबकि विरोधी टीम ने 21 छक्के लगाए. हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब इस तरह का नजारा देखने को मिला हो. इससे पहले भी बांग्लादेश के घरेलू मैचों में ऐसे अप्रत्याशित नतीजे निकलते रहते हैं.


बता दें कि स्थानीय क्रिकेट क्लब आयोजक सैयद अली असफ ने इस पर कहा कि यह हैरान करने वाला है. मैं ढाका के घरेलू क्रिकेट से जुड़ा हुआ हूं और वर्षों से देखते आ रहा हूं, लेकिन इससे पहले मैंने ऐसा कुछ कभी नहीं देखा. बता दें कि यहां मैच फिक्सिंग आम बात है. इसी वजह से यहां मैचों को लेकर फिक्सिंग के आरोप लगते रहते हैं. 2017 में भी एक गेंदबाज ने मैच फिक्सिंग की थी जिस वजह से उस पर 10 साल का प्रतिबंध लग गया.