भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मंगलवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में वनडे सीरीज का पहला मुकाबला खेला गया. इस मैच में भारतीय टीम हार गई और साथ ही सीरीज में भी 1-0 से पिछड़ गई है. भारतीय टीम को 2005 के बाद से घरेलू सरजमीं पर पहली बार 10 विकेटों से हार झेलनी पड़ी. भारतीय टीम की हार के बाद भारतीय टीम की कई कमजोरियां सबके सामने उजागर हो गई हैं.


टॉस गंवाया 

भारतीय टीम लक्ष्य का पीछा करने में माहिर है. लेकिन टॉस हारना भारत के लिए हार का कारण बन गया. ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी को चुना और भारतीय टीम को पहले बल्लेबाजी करनी पड़ी, जिससे उसका प्रदर्शन खराब रहा.

बल्लेबाज हुए नाकाम 

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए पहले वनडे मैच में भारतीय टीम के बल्लेबाज कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए. रोहित शर्मा सस्ते में विकेट गंवा बैठे. राहुल और शिखर धवन के बीच साझेदारी हुई. लेकिन वह बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पाए. भारत के विकेट लगातार गिरते गए.


मिडिल ऑर्डर हुआ फ्लॉप

भारतीय टीम का मध्यक्रम पूरी तरह से फेल रहा. श्रेयस अय्यर 4 रन बनाकर और पंत 28 रन बनाकर आउट हो गए. विराट कोहली भी नंबर चार पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए.

फिनिशर की कमी 

भारतीय टीम के पास निचले क्रम में ऐसा कोई बल्लेबाज नहीं था जो बड़ी पारी खेले और टीम के स्कोर को मजबूत स्थिति में पहुंचाएं. भारतीय टीम इस मैच में पूरे 50 ओवर भी नहीं खेल पाई.


गेंदबाज फेल

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज इस समय बहुत ही अच्छी फॉर्म में चल रहे हैं. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध मैच में सभी भारतीय गेंदबाज फेल हो गए. कोई भी गेंदबाज एक भी विकेट नहीं ले पाया.