दिग्गज ऑलराउंडर खिलाड़ी इरफान पठान ने शनिवार को घोषणा कर दी कि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रहे हैं. इरफान पठान ने भारतीय टीम की तरफ से अंतिम मैच 2012 में खेला था. इसके बाद उन्हें भारतीय टीम में मौका नहीं दिया गया. इरफान पठान ने अपने क्रिकेट करियर में कई ऐसे विश्व रिकॉर्ड कायम किए, जो बहुत शानदार है.


इरफान पठान ने 2006 में पाकिस्तान के विरुद्ध खेले गए एक टेस्ट मैच के पहले ही ओवर में हैट्रिक ली थी और वह यह कारनामा करने वाले विश्व के इकलौते गेंदबाज है.

इरफान पठान को 2007 के टी-20 विश्व कप के फाइनल मुकाबले में मैन ऑफ द मैच चुना गया था. उन्होंने 16 रन देकर तीन विकेट हासिल किए थे. भारतीय टीम इरफान पठान के शानदार प्रदर्शन के कारण ही फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान को हराकर विश्व विजेता बन पाई थी.


इरफान पठान ने 2008 में ऑस्ट्रेलिया के पर्थ में खेले गए मैच में 46 गेदों में 28 रन बनाए थे. साथ ही 5 विकेट भी चटकाए थे. इस मैच में उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया था और वह पर्थ के मैदान पर मैन ऑफ द मैच बनने वाले पहले एशियाई खिलाड़ी थे.


इरफान पठान आईसीसी का पहला इमर्जिंग प्लेयर ऑफ द ईयर का अवार्ड जीतने वाले खिलाड़ी थे. अंडर-19 क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का रिकॉर्ड भी इरफान पठान के नाम दर्ज है, जिन्होंने बांग्लादेश के विरुद्ध 2003 में खेले गए मैच में 7.5 ओवर में 16 रन देकर 9 विकेट चटकाए थे. इस दौरान उन्होंने 3 मेडन ओवर फेंके थे. उनका यह रिकॉर्ड अभी तक कोई भी खिलाड़ी नहीं तोड़ पाया है.